भारत सरकार ने आज यानी गुरुवार को सदन में चर्चा के दौरान बताया कि देश का नया संसद भवन अगले वर्ष अक्टूबर 2022 तक बनकर पूरी तरह से तैयार हो जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगले वर्ष ही देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे हो रहे हैं,  तो देश के आजादी के 75 वे वर्षगांठ पर ये देश के लिए अनोखा तोहफा होगा... जो भारतीय सरकार देश को सौंपेगी और भारत निर्माण में एक नई दिशा और दशा गढ़ेगी।


सरकार के तरफ से क्या कहा गया : 
सरकार ने जानकारी देते हुए बताया है कि सेंट्रल विस्टा मास्टर प्लान के विकास के अन्य हिस्सों जैसे केंद्रीय सचिवालय भवन और केंद्रीय सम्मेलन केंद्र,  प्रधानमंत्री निवास,  स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानी एस.पी.जी भवन और उप राष्ट्रपति भवन के लिए इसी साल 31 मई 2021 को पर्यावरण मंत्रालय ने इसके निर्माण के लिए मंजूरी दी थी। जबकि देश की नई संसद के लिए पर्यावरण मंत्रालय ने पिछले साल यानी 17 जून 2020 को मंजूरी दी थी। 

साथ ही साथ सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है कि, सेंट्रल विस्टा डेवलपमेंट मास्टर प्लान के तहत किसी भी हेरीटेज बिल्डिंग को नष्ट नहीं किया जाएगा... साथ ही सरकार के तरफ से यह भी कहा गया है को निर्माण के दौरान राष्ट्रीय अभिलेखागार और राष्ट्रीय संग्रहालय विद्वानों और शोधकर्ताओं के लिए खुला रहेगा।