वो 3 महत्वपूर्ण कारण जिसके चलते मनोज तिवारी को अध्यक्ष पद से हटाया गया समझे Analysis

मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) को दिल्ली BJP अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है. इस फेरबदल के बीच लगातार यह सवाल उठ रहे हैं कि आखिर कोरोना वायरस प्रसार से बनी गंभीर परिस्थितियों के बीच ऐसा क्या हुआ कि बीजेपी ने यह निर्णय लिया.



लॉकडाउन के दौरान हरियाणा में क्रिकेट खेलना पड़ा भारी:-
मनोज तिवारी, दिल्ली चुनावों के बाद से लगातार राजनीति को लेकर अनमने होते जा रहे थे. हाल ही में लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन कर पड़ोसी राज्य हरियाणा (Haryana) में एक एकेडमी में क्रिकेट खेलते दिखे थे. लगता है कि कोरोना काल में जब पूरी दुनिया अपने घरों में कैद है उनके क्रिकेट खेलने से अच्छा संदेश नहीं गया. वैसे भी बीजेपी के अंदर नेताओं में सामाजिक जिम्मेदारी की भावना का पालन नेताओं के लिए आवश्यक होता है, ऐसे में उनकी जगह भरने को संगठन से लंबे समय से जुड़े और जमीनी नेता को लाया गया है.



दिल्ली विधानसभा चुनावों में BJP की बुरी हार:-
BJP ने दिल्ली का विधानसभा चुनाव मनोज तिवारी के नेतृत्व में लड़ा था. दिल्ली से जुड़े अन्य बीजेपी नेताओं की बयानबाजी वायरल होने के बाद भी चुनावों में मनोज तिवारी ही चुनावी समीकरणों के लिए जिम्मेदार माने जा रहे थे. ऐसे में पार्टी की बुरी हार की जिम्मेदारी भी उन पर आनी ही थी. कहा जा रहा था कि हार के बाद तुरंत ही पार्टी को उन्होंने अपने इस्तीफे की पेशकश की थी लेकिन पार्टी ने योग्य नेता की तलाश में उन्हें इस पद पर कुछ दिन रहने को कहा था. यानी बीजेपी चुनाव परिणाम बाद से ही नए नेतृत्व की तलाश में थी. ऐसे में पार्टी की खोज पूरी होते ही 4 महीने बाद मनोज तिवारी को इस पद से हटा दिया गया.



सिलेब्रिटी नेताओं के मुकाबले, BJP का जमीनी कार्यकर्ताओं पर भरोसा ज्यादा :-
BJP हमेशा ऐसी पार्टी रही है, जिसमें नेता संगठन से लंबे जुड़ाव और विचारधारा पर दशकों तक काम करने के बाद महत्वपूर्ण पदों को पाते हैं. ऐसे में यह कम ही होता है कि कोई सिलेब्रिटी नेता आकर बीजेपी में महत्वपूर्ण पद को संभाले. इससे पहले भी बीजेपी, दिल्ली में ही किरन बेदी को CM पद का उम्मीदवार घोषित कर, अपने प्रयोग पर पछता चुकी थी. मनोज तिवारी को अध्यक्ष पद से हटाये जाने को भी इसी क्रम में देखना चाहिए. उनकी जगह पर एक लगभग अनजाने नाम आदेश कुमार गुप्ता की नियुक्ति भी इस बात पर मुहर लगाती है.


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Reactions