Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

वामपंथ का वास्तविक सिद्धांत” बताया संघ सह सरकार्यवाह ने, जाने क्या कहा ?

समाचार के मुख्य बिंदु :-

लाल झंडा और लाल सलाम के नाम पर झारखंड से ले कर बिहार , छत्तीसगढ़ (Jharkhand to Bihar, Chhattisgarh) के जंगलो में कई वामपंथी आम जनता और देश के सुरक्षा बलों का खून बहाते दिखाई दे जाते हैं.संघ सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने इसकी शुरुआत करते हुए वामपंथ का असल और मूल सिद्धांत बताया. डॉ. कृष्ण गोपाल जी ( Dr. Krishna Gopal ji) ने कहा की " विरोधियों को मिटाना (eradicating opponents) वामपंथी सिद्धांत है। यही उन्होंने सोवियत संघ (Soviet Union) में किया। यही उन्होंने चीन, नॉर्थ कोरिया और क्यूबा ( China, North Korea and Cuba) आदि में किया और यही वे केरल (Kerala) में कर रहे हैं। केरल में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) सहित अन्य विरोधी दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को मारा जा रहा है " ये विचार वो रविवार को एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में आरएसएस के प्रचारक रहे और पद्म श्री (Padma Shri) व पद्म विभूषण (Padma Bhushan) से सम्मानित परमेश्वरम की श्रद्धांजलि सभा में व्यक्त कर रहे  थे. उनके अनुसार हिन्दुओं के बचने का एकमात्र कारण अध्यात्म रहा जिस पर अब सवाल उठाए जाते हैं, आज वामपंथियों का विरोध करना आसान हो गया है मगर पचास के दशक में ऐसा करना संभव नहीं था।





ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Breaking News
Loading...
Scroll To Top