Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

भारत ने फिर दुनिया को बताया मजहब से ऊपर देश, कोरोना के चलते ईरान, इटली से 400 से ज्यादा लोगों को किया एयरलिफ्ट .

News In Shorts समय की बचत  :-

भारत के अंदर कोरोना वायरस से लड़ाई के बीच विदेश में फंसे नागरिकों को भी निकाला जा रहा है. चीन ( China) के बाद इटली और ईरान ( Italy and Iran) में कोरोना (Corona) ने कहर बरपाया है, लिहाजा वहां फंसे भारतीयों को स्वदेश वापस लाने का काम किया जा रहा है. इस कड़ी में इटली और ईरान से 400 से ज्यादा लोगों को विशेष विमानों द्वारा भारत लाया गया है.विदेश मंत्री एस जयशंकर (Foreign Minister S Jaishankar) ने रविवार को कहा कि कोरोनो वायरस प्रभावित ईरान में फंसे 234 भारतीय स्वदेश पहुंच गए हैं. स्वदेश पहुंचे इस बैच में 131 छात्र और 103 तीर्थयात्री (pilgrims) शामिल हैं. विदेश मंत्री ने कहा, ईरान में फंसे 234 भारतीयों को वापस लाया गया है जिनमें छात्र और तीर्थयात्री शामिल हैं.मिशन एयरलिफ्ट' (airlift,) पूरा होने के बाद एस जयशंकर ने ट्वीट कर ईरानी राजदूत धामू गद्दाम ( Iranian Ambassador Dhamu Gaddam) और इस बड़े अभियान में लगी पूरी टीम को धन्यवाद दिया. विदेश मंत्री ने ईरानी अधिकारियों को भी धन्यवाद कहा. रविवार को भारतीयों का तीसरा बैच ईरान से स्वदेश लौटा. इससे पहले शुक्रवार को दूसरा बैच भारत आया था. इसके साथ ही इटली से 218 लोगों का दल भी भारत पहुंचा है.





ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Breaking News
Loading...
Scroll To Top