घटिया मेवानी ने 9 मिनट के भाषण में छह बार मोदी जी के लिए इस्तेमाल किया अपशब्द



नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में, तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं जिग्नेश मेवानी के बारे में जो कि अपनी घटिया राजनीति के लिए तथा गंदी सोच के लिए जाने जाते हैं. इसी सोच के साथ उन्होंने फिर से अपना घटियापन दिखाते हुए अपने 9 मिनट के भाषण में 6 बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के लिए अपशब्द कहे.

घटिया मेवानी ने 9 मिनट के भाषण में छह बार मोदी जी के लिए इस्तेमाल किया अपशब्द

क्या है मामला:
जीहां दोस्तों आपने सही सुना जिग्नेश मेवानी ने गुरुवार को एक रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला और अपनी घटिया पन दिखाते हुए पटना के गांधी मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए विवादित शब्दों का इस्तेमाल किया. आपको बता दें कि गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवानी ने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की भाजपा हटाओ देश बचाओ की रैली को संबोधित करते हुए 9 मिनट का भाषण दिया इसमें उन्होंने 6 बार प्रधानमंत्री को नमक हराम कह कर संबोधित किया.




क्या कहा घटिया मेवानी ने मोदी जी पर:
भाषण की शुरुआत में जिग्नेश मेवानी ने प्रधानमंत्री को कप्तान कह कर संबोधित किया और कहा कि वह नमक हराम है और उनकी सबसे ज्यादा नमक हरामि गुजरात की जनता ने देखी है. जिग्नेश मेवानी जो कि एक घटिया इंसान है उसने प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि वह बिहार समेत देश की 130 करोड़ जनता से माफी मांगते हैं कि गुजरात ने ऐसा मैन्युफैक्चरिंग डिफेक्ट वाला पीस दिल्ली भेज दिया.


घटिया मेवानी ने बिहारियों की पिटाई पर क्या कहा :
इसके बाद घटिया इंसान जिग्नेश मेवानी ने हाल में ही घटी घटना जिसमें बिहारियों को गुजरात में पीटा जा रहा था उसका जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कितने नमक हराम है, इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि गुजरात में उत्तर भारतीयों की पिटाई हो रही थी मगर इस नमक हराम की जुबान से एक शब्द नहीं निकला. घटिया मेवानी ने अपने भाषण को आगे बढ़ाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने गुजरात में उत्तर भारतीयों के साथ हुई पिटाई के मुद्दे पर अपनी जुबान नहीं खोली इसलिए देश की जनता को इस नमक हराम को पहचान लेना चाहिए.




घटिया मेवानी ने सिर्फ और सिर्फ अभद्र टिप्पणी की:
घटिया  मेवनी ने प्रधानमंत्री पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि भूख,महंगाई,तेल की बढ़ती कीमत तथा दलितों पर हो रहे अत्याचार से हमारे प्रधानमंत्री को कोई मतलब नहीं है उनको मतलब है तो सिर्फ गाय से. घटिया मेवनी जब अपनी भाषण दे रहा था उस वक्त बिजली गुल हो गई और मेवानी को अपना भाषण बीच में ही रोकना पड़ा जिसके बाद मेवानी ने मोदी जी पर भद्दी टिप्पणी करते हुए कहा कि बिजली का गुल हो जाना भी नमक हराम की साजिश है.




संपादक : विशाल कुमार सिंह


Post a Comment

0 Comments