प्रदर्शनकारियों ने पुरे राजस्थन में पुलिस को दौरा दौरा के मारा ,200 से ज्यादा लोग हुए घायल .



राजस्थान में स्थिति  काफी गंभीर प्रदर्शकारियों ने अनगिनत गारियो को आग लगाया ,अनगिनत लोगो को घायल किया  साथ ही साथ पुलिस को भी नहीं बक्छा। 


बैंगलोर :
(SC/ST) Act के विरोध में आज 2 अप्रैल को दलित समाज तथा आदिवासी  समाज ने भारत बंद का ऐलान किया था। इसका असर राजस्थान में काफी देखा गया आपको हम बता दे की राजस्थान में हिंसा की शुरुआत सुबह 10:30  बजे बारमेर से हुई। 

राजस्थान में दलितों और करनी सेना के बिच काफी झड़प हुई जिसका बचाओ पुलिस करने आयी लेकिन प्रदर्शकारियों ने पुलिस पर ही हमला बोल दिया , जिसमे तक़रीबन 40 पुलिस वाले जख्मी हो गये और 1 पुलिस वाले की हालत गंभीर बताई जा रही है। 

राजस्थान में इस बंद का काफी असर रहा , आपको हम बताना चाहेंगे की अलवर में तो स्थिति इतनी बेकाबू हो गयी की पुलिस को फायरिंग करनी पर गयी जिसमे 2 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। 

कैरथन और ENB पुलिस स्टैशन को प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया , जिसमे डिपुटी SP भी घायल हो गए। 

इसी तरह सीकर के नीमका पुलिस स्टैशन में प्रदर्शनकारियो ने तक़रीबन 2 घंटे तक पथराव किया साथ ही साथ 2 दर्ज़न पुलिस की गरियो को आग के हवाले कर दिया। प्रदर्शनकारी यही पर संत नहीं हुए उन्होंने पुलिस वालो को दौरा दौरा कर मारा। 

राजस्थान के धौलपुर में तो प्रदर्शनकारियो  ने तो वसुंधरा राजे के घर पर  ही हमला कर दिया जिसके बाद पुलिस ने वहां आकर स्थिति को संभाला और प्रदर्शनकारियों को काबू किया। 

बीकानेर और झुंझुन में भी उपद्रवियो ने काफी उत्पात मचाया , यहाँ भी काफी गरिया फुकी गयी। आपको बतादे की यहाँ भी दर्जनों लोग घायल हुए। 

पुरे राजस्थान में (SC/ST) में प्रदर्शन के नाम पर जमकर गुंडागर्दी की गयी जिसको की पुलिस भी रोकने में नाकाम रही। हिंसा की खबरे राजस्थान के पुष्कर और अजमेर से भी आयी। सीधे शब्दों में समझे तो आज दिन भर पुलिस प्रदर्शनकारियों पर डंडा भांजती रही। 

आपक बतादे की राजस्थान का ऐसा कोई जिला नहीं था जहां से हिंसा की खबरे न आयी हुई हो। अकेले राजस्थान में 150 से ऊपर लोग घायल हुए , 200 से ऊपर गरियो को आग के हवाले कर दिया गया , 300 से ऊपर गड़ियो के सीधे फोड़ दिए गये। आपको बता दे की राजस्थान के  6 बारे जिले - बाड़मेर ,बीकानेर , अलवर ,शिकार ,झुंझुन और जालोर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गयी  ताकि स्थिति काबू हो सके। 

प्रदर्शनकरियों ने रेल-सेवा को भी नहीं बक्छा , दिन भर रेल-सेवा को परेशानियों और देरी का सामना करना परा। प्रदर्शन की वजह से जयपुर ,धौलपुर ,अलवर और भरतपुर की ट्रेनों को प्रदर्शनकारियों ने रोकने की कोशिश की। 

भारत आईडिया का इस समाचार पर विचार : जो भी  हो रहा है बहुत गलत हो रहा है क्युकी आज भारत के 2 समुदाय के लोग नहीं बल की दो भाई आपस में टकराये है। हमारे विचार से ये जो भी हो रहा है एक सोची समझी रणनीति के तहत हो रहा है क्युकी अगले साल लोकशभा के चुनाव है और विपक्छ सत्ता को पाने का एक भी मौका नहीं छोड़ना चाहती इसीलिए हिन्दुओ को लड़ाया जा रहा है। 

अगर आपको मेरा समाचार  पसन्द  आया हो तो भारत विज़न  के पेज को लाइक करना न भूले तथा हमें आप यूट्यूब पर भी सब्सक्राइब  करके समाचर पा सकते हो जो देश हित में कारीगर हो। 
Reactions