उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना या मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से अब तक वंचित गरीब 40 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल किए जाने के प्रस्ताव को बीते दिन मंत्री परिषद ने स्वीकृति दे दी है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना में शामिल होने पर प्रत्येक परिवार को निजी और सरकारी अस्पतालों में प्रतिवर्ष सालाना ₹5 लाख तक का निशुल्क इलाज का फायदा मिलेगा।


अब तक कितने लोग इस योजना से जुड़े हैं : 
प्रदेश में आयुष्यमान भारत योजना में 1 करोड़ 18 लाख लोग शामिल किए गए हैं। जबकि मुख्यमंत्री आरोग्य योजना में 10 लाख लोगों को शामिल किया गया। इस तरह से इन दोनों योजनाओं में बचे रह गए 40 लाख अंत्योदय कार्ड धारकों को 5 लाख का बीमा देने के लिए मुख्यमंत्री जनारोग्य में जोड़ा जाएगा, जिसमें 102 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

योगी आदित्यनाथ ने 50,000 युवाओं को सरकारी नौकरी प्रदान करने की बात कही है :
वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि उनको किसी के बहकावे में नहीं आना चाहिए। पहले की सरकारों पर हमला बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि यूपी में अब किसी को भी गलत करने की छूट नहीं है। इस अवसर पर उन्होंने यह भी कहा कि दिसंबर तक 50000 और नौजवानों को सरकारी नौकरी मिलेगी।