हाथरस केस में खुलासा, घटनास्थल पर मौजूद थे पीड़िता की मां और भाई : चश्मदीद

जैसे-जैसे सीबीआई की जांच आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे हाथरस घटना कि सच्चाई भी लोगों के सामने आती जा रही है. आपको बता दें कि इस मामले को लेकर देश में काफी आक्रोश है, क्योंकि हाथरस पर अलग अलग राजनीतिक पार्टियों ने अपनी गंदी राजनीति की थी और जब राज्य सरकार ने जांच करवाई तो पता चला मामले के आर में राज्य में दंगे कराने की कोशिश थी. अब इसी घटनाक्रम में विक्रम सिंह नाम का एक व्यक्ति का बयान सामने आया है, जिसमें उन्होंने दावा किया है कि वह घटना के दौरान घटनास्थल पर मौजूद थे.



 

अभी तक की मिल रही जानकारी के अनुसार जिस खेत में पीड़िता मिली थी वह खेत विक्रम सिंह का ही है. आपको बता दें कि विक्रम सिंह ने अपने बयान में कहा है कि जब वह वहां पहुंचे उस समय लड़की जमीन पर पड़ी हुई थी और लड़की की मां और भाई वहीं पर खड़े थे.



क्या कहा विक्रम सिंह ने ?:-
आज तक द्वारा एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई है जिसमें बताया गया है कि, जिस खेत में पीड़िता गंभीर हालत में मिली थी उस खेत के मालिक विक्रम सिंह ही है. विक्रम सिंह ने बताया कि 14 सितंबर की सुबह वह अपने खेत में चारा काट रहे थे तभी उन्होंने एक लड़की की चीखने की आवाज सुनी. चीख सुनकर वह मौके पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि खेत में एक लड़की गंभीर हालत की अवस्था में पड़ी हुई है और ठीक लड़की के बगल में लड़की का बड़ा भाई और मां भी खड़े थे.

इस घटना पर बात करते हुए चश्मदीद विक्रम सिंह ने बताया कि वह लड़की की गंभीर अवस्था को देखकर घबरा गए, जिसके बाद वह लव कुश और उसकी मां को इस घटना की जानकारी देने के लिए नजदीक के खेत तक गए. जिसके बाद विक्रम सिंह ने दोनों से घटनास्थल पर चलने के लिए भी कहा. किंतु जब तक विक्रम से दोबारा अपने खेत तक वापस पहुंचते तब तक पीड़िता का भाई घटनास्थल पर मौजूद नहीं था. विक्रम सिंह ने देखा कि पीड़िता उसके खेत में ही पड़ी थी और उसकी मां नजदीक ही खड़ी थी. विक्रम सिंह का कहना है कि वह कुछ समझ पाते इससे पहले पीड़िता की मां ने उनसे कहा जाओ मेरे बेटे को बुलाकर लाओ.




जब घटनास्थल पर 5 से 6 लोग इकट्ठा हो जाएंगे तब मैं आ जाऊंगा पीड़िता का भाई : :-
विक्रम सिंह ने अपने बयान में आगे बात करते हुए कहा कि वह पीड़िता के घर गए और उन्होंने पीड़िता के भाई से कहा कि जल्दी चलो तुम्हारी बहन की हालत गंभीर है. जिसके बाद पीड़िता के भाई ने जवाब देते हुए कहा कि जब घटनास्थल पर 5 लोग आ जाएंगे तब मैं भी वहां पहुंच जाऊंगा. अंत में विक्रम सिंह ने इस बात की जानकारी भी दी कि इतना होने के बाद वह अपने घर गए और उन्होंने अपने घर वालों को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी. विक्रम सिंह ने कहा कि वहां कई और लोग भी मौजूद थे और थोड़ी देर बाद घटनास्थल पर गांव वालों की भीड़ इकट्ठा हो गई.

आपको बता दें कि इस घटना की जांच सीबीआई कर रही है, इस घटना में दंगे करवाने की भी कोशिश थी, इस एंगल से भी केस कि जांच की जा रही है.


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे पेज को अभी लाइक करे,कृपया पेज लाईक जरुर करे :- 




आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Reactions