चिराग पासवान ने बताया किसके कहने पर वो बीजेपी से विधानसभा चुनाव में हुए अलग

बिहार विधानसभा चुनाव में पहले चरण के मतदान को लेकर सियासी दलों ने प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है. पहले चरण के तहत बिहार में 28 अक्टूबर को 16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे. बिहार में विधानसभा का ये चुनाव इसलिए भी काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि केंद्र में एनडीए की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी इस बार अलग चुनाव लड़ रही है. एलजेपी के अध्यक्ष चिराग पासवान बिहार की उन सभी सीटों पर उम्मीदवार उतार रहे हैं, जो सीटें जेडीयू के हिस्से में आई हैं. इस बीच चिराग पासवान ने इस बात का भी खुलासा किया है कि एनडीए से अलग होकर बिहार में चुनाव लड़ने की प्रेरणा उन्हें कहां से मिली.

 



पिता के कहने पर अकेले लड़ रहा हूं चुनाव : चिराग पासवान-
एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, चिराग पासवान ने इस बारे में बताया कि उन्होंने अपने पिता राम विलास पासवान की प्रेरणा से ही बिहार विधानसभा चुनाव में अकेले उतरने का फैसला लिया. अपने पिता को याद करते हुए चिराग पासवान ने कहा, 'पिताजी अक्सर मुझे इस बारे में प्रेरित करते थे। वो मुझे बताते थे कि तुम्हें अकेले ही चुनाव मैदान में उतरना चाहिए, इससे पार्टी मजबूत होगी और उसका विस्तार भी होगा.' बीते गुरुवार को ही एक हार्ट सर्जरी के बाद रामविलास पासवान का निधन हो गया था.



चिराग पासवान ने कहा नहीं मंजूर नीतीश कुमार का नेतृत्व:-
आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही चिराग पासवान ने एनडीए में बगावती तेवर दिखाने शुरू कर दिए थे. चिराग पासवान ने अलग चुनाव लड़ने का ऐलान करते हुए कहा कि वो भाजपा के साथ बने रहेंगे, लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नेतृत्व उन्हें मंजूर नहीं है. चिराग ने कहा कि वो जेडीयू के खिलाफ अपनी पार्टी के उम्मीदवार उतारेंगे. चिराग के इस फैसले पर बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि यह फैसला रामविलास पासवान का नहीं है, अगर वो होते तो एलजेपी ऐसा फैसला नहीं लेती.


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे पेज को अभी लाइक करे,कृपया पेज लाईक जरुर करे :- 




आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Reactions