9 मजदूरों की निर्मम हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है, पढ़े ये दर्दनाक रिपोर्ट

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आईडिया में तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं तेलंगाना के वारंगल के उस घटना के बारे में जिसमें 9 लोगों की मृत शरीर कुएं में पाई गई थी।तेलंगाना (Telangana) के वारंगल में एक कुएं से रहस्यमय ढंग से 9 लोगों के शव मिले थे. पुलिस को इन शवों की गुत्थी सुलझाने में आखिरकार सफलता मिल ही गई. पुलिस ने जांच-पड़ताल के बाद बताया कि इन सभी 9 लोगों ने खुदकुशी नहीं बल्कि सोची समझी साजिश के तहत उनकी हत्या की गई थी. दरअसल पुलिस ने पहले गुरुवार को कुएं से 4 शव बरामद किये. बाद में 5 और शव कुएं से शुक्रवार को निकाले गये. शवों पर कोई चोट के निशान नहीं हैं.



पुलिस के मुताबिक सोची समझी साजिश के तहत की गई हत्या:-
सोची समझी साजिश के तहत हत्या को अंजाम दिया गया. बिहारी मज़दूर संजय यादव और ऑटो ड्राइवर मोहन नाम के शख्स मृतक मक़सूद आलम और उसके परिवार के पास अक्सर आया करते थे. कुछ पैसों के लेनदेन को लेकर संजय यादव का मक़सूद से मनमुटाव हो गया था. मनमुटाव के बाद भी इन लोगों का आना जाना बना रहा. 20 मई की शाम को मक़सूद ने अपने पोते के जन्मदिन की पार्टी में संजय यादव को भी बुलाया था. संजय ने पार्टी के दौरान कोल्ड ड्रिंक में नींद की गोली मिला दी. कोल्ड ड्रिंक पीने वाले लोग जब सो गए, तो मोहन की मदद से संजय यादव ने सभी ज़िंदा लोगों को कुएं में फेंक दिया. पुलिस मृतकों की फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रही है.



मृत परिवार बंगाल से पलायन करके आया था :-
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जितने भी लोग मृत पाए गए हैं, वह सभी पहले पश्चिम बंगाल से पलायन करके तेलंगना आए थे और वारंगल ग्रामीण में बस गए थे पुलिस सूत्रों ने या फिर बताया कि इनका पूरा परिवार यूनिट के एक परिसर के दो कमरों में रहता था. राज्य के पंचायती राज मंत्री एर्राबेल्ली दयाकर राव ने उस अस्पताल का दौरा किया, जहां शवों का रखा गया था. उन्होंने कहा था कि जो कुछ हुआ है, उसकी अच्छी समझ बन पाने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Reactions