कोरोना वायरस से हार गई जिंदगी मजदूर ने ट्रेन के सामने कूदकर की हत्या पढ़ें ये रिपोर्ट

लखीमपुर खीरी जिले में मैगलगंज थाना क्षेत्र के कस्बे में लॉकडाउन में बेरोजगार हुए युवक ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली. मृतक का नाम भानू प्रताप गुप्ता है. मृतक की जेब से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है जिसमें उसने अपनी गरीबी और बेरोजगारी का जिक्र किया है. यहीं नहीं सुसाइड नोट में उसने ये तक कहा कि हम इतनी गरीबी झेल रहे हैं कि मेरे मरने के बाद मेरे अंतिम संस्कार भर का भी पैसा मेरे परिवार के पास नहीं है.



होटल में काम करता था भानु :-
भानू मैगलगंज के रहने वाला था और शाहजहांपुर में एक होटल पर काम करता था. लॉकडाउन के बाद से भानू लम्बे समय से घर पर ही था. भानू की आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं थी. इन दिनों घर में न खाने को कुछ था, न ही अपने और अपनी बूढ़ी मां के इलाज के लिए पैसे थे. दोनों लोग ही सांस की बीमारी से जूझ रहे थे.भानू की तीन बेटियां और एक बेटा है. घर पर बूढ़ी मां और बीमारी का बोझ था. घर की पूरी जिम्मेदारी भानू के कंधे पर थी. जिम्मेदारियों के बोझ तले दबकर भानू ने आज अपनी जिंदगी से हार मान ली और रेलवे ट्रैक पर लेट कर मौत को गले लगा लिया.


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Reactions