Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

गुरुद्वारा करतारपुर साहिब जाने वाले श्रद्धालु नाराज है सरकार से जाने कारण ?

समाचार के मुख्य भाग  :-

गुरदासपुर (पंजाब): श्रद्धालुओं (devotees) ने सोमवार से पाकिस्तान में गुरुद्वारा करतारपुर साहिब (Gurdwara Kartarpur Sahib) के लिए यात्रा और पंजीकरण को अस्थायी रूप से निलंबित करने के गृह मंत्रालय ( Home Ministry) के फैसले पर निराशा व्यक्त की है। रविवार को गुरुद्वारा जाने वाले भक्तों में से एक, रशपाल सिंह ने कहा"कई सालों से हम श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर को खोलने की मांग कर रहे थे ताकि भारतीय सिखों को इस धार्मिक स्थल पर सम्मान देने का अवसर मिल सके," ।उन्होंने यह भी कहा, "मैं प्रार्थना करता हूं कि कोरोनोवायरस महामारी (coronovirus epidemic) जल्द ही समाप्त हो जाए और भक्त फिर से धार्मिक स्थल पर जा सकें।"


क्या कहना है चिकित्सक अधिकारी का :-
एक अन्य भक्त जसविंदर कौर ने कहा, "मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे धार्मिक स्थल का दौरा मिला है, लेकिन कुछ लोग कुछ समय के लिए गुरुद्वारा नहीं जा पाएंगे। मैं प्रार्थना करती हूं कि यह महामारी जल्द ही समाप्त हो जाए ताकि मुझे दूसरा बार जाने का मौका  मिल सके।  मौका है दर्शन के लिए। ”चिकित्सा अधिकारी, अधिश शर्मा,  ने कहा, "करतारपुर गलियारे से पाकिस्तान (Pakistan) जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को कोरोनोवायरस के किसी भी लक्षण के लिए पूरी तरह से जाँच की जा रही है।"उन्होंने यह भी कहा, "हम उनका तापमान ले रहे हैं और उनके पासपोर्ट की जांच करके उनके यात्रा इतिहास पर ध्यान दे रहे हैं।"

यूरोप बन चूका है अब इस बीमारी का केंद्र :-
इस बीच, सरकार ने COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए भूमि चेक-पोस्ट के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय यात्री यातायात को भी प्रतिबंधित कर दिया है। मंत्रालय ने पिछले हफ्ते कहा था कि बांग्लादेश, नेपाल, भूटान, म्यांमार (Bangladesh, Nepal, Bhutan, Myanmar) की सीमाओं पर आव्रजन भूमि चेक पोस्ट के माध्यम से सभी यात्री आवागमन  को 15 मार्च से निलंबित कर दिया जाएगा।विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने घोषणा की है कि यूरोप वैश्विक कोरोनावायरस महामारी का नया 'उपरिकेंद्र' (epicenter) बन गया है जिसने 4000 से अधिक मौतों के साथ 15 लाख से अधिक लोगों को संक्रमित किया है। .


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Breaking News
Loading...
Scroll To Top