• ताज़ा खबर

    मदरसों के लिए योगी आदित्यनाथ ने लिया बड़ा फैसला, अफसरों को दे दिया ये आदेश।




    नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम योगी आदित्यनाथ के ऊपर चर्चा करने वाले हैं जिन्होंने उत्तर प्रदेश मदरसों के लिए एक बड़ा फैसला लेते हुए कुछ बदलाव करने के आदेश दिए हैं तो। आइए जानते हैं क्या है पूरी खबर।

    समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस है, हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



    योगी आदित्यनाथ ने मदरसों की समीक्षा :
    उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने सोमवार को समीक्षा बैठक की। इस बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की। इस दौरान उन्होंने सभी वर्गों से जुड़े कल्याण विभागों की योजनाओं को जांचा और परखा। अमर उजाला न्यूज पेपर की खबर के मुताबिक इस दौरान उन्होंने अल्पसंख्यकों के लिए संचालित मदरसों की शिक्षा और नियुक्ति प्रक्रिया की समीक्षा भी की और बड़ा फैसला ले लिया। उन्होंने अफसरों को ये बड़ा आदेश दिया है।

    ये है मरदसों के लिए योगी का फैसला :
    उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। उन्होंने सोमवार को लखनऊ में हुई समीक्षा बैठक में यूपी के मदरसों को लेकर भी बड़ा फैसला ले लिया। योगी ने मदरसों में नियुक्ति के लिए एक बदलाव करने का आदेश दे दिया है जिसपर जल्द ही अमल होगा। उनका आदेश है कि मदरसों में गणित और विज्ञान पढ़ाने वाले शिक्षकों के लिए उर्दू जानना जरूरी नहीं होगा। उन्होंने उर्दू की अनिवार्यता खत्म करने का फैसला लिया है।




    मदरसों में शिक्षा में होगा ये बदलाव :
    योगी आदित्यनाथ ने एक और बड़ा आदेश दिया है। उन्होंने मदरसा की शिक्षा पद्धति में बदलाव लाने की पहल की है। योगी ने अफसरों को आदेश दिया है कि मदरसों में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू करवाया जाए और इसी हिसाब से शिक्षा दी जाए। इस बैठक में उन्होंने एससी एसटी छात्रों को जल्द छात्रवृत्ति देने के भी आदेश दे दिए।



    आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे।