मध्यप्रदेश : किसी भी वक़्त गिर सकती है कांग्रेस की सरकार, भाजपा की हो सकती है वापसी.


नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं मध्य प्रदेश के बारे में जहां पर अभी हाल में ही भारतीय जनता पार्टी की हार हुई और कांग्रेस में निर्दलीय विधायकों के सहारे सरकार बनाई और कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री बने कमलनाथ. लेकिन अब ऐसी हवा चली है कि हो सकता है आने वाले कुछ दिनों में कांग्रेस की सरकार गिर जाए और भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन जाए और ऐसा मैं क्यों कह रहा हूं, आइए जानते हैं.


क्या है मामला :
अभी हाल ही में देश के 5 राज्यों में विधानसभा नतीजे आये जिनमे कोंग्रेस ने जीत दर्ज कर 2019 के लिए अपनी मौजूदगी दर्शा दी हैं ,  विधानसभा चुनाव में जीत के बाद कोंग्रेस के नेता अच्छे खासे उत्साहित नजर आ रहे हैं और आने वाले आम चुनाव में जीत का दंभ भर रहे हैं. लेकिन मंगलवार को आई इसी खबर के बाद कोंग्रेस के खेमे में हडकम्प मच गया हैं , जैसा की आप जानते हैं तीनो हिंदी राज्यों में कोंग्रेस अपनी सरकार बना चुकी हैं जिनमे मध्यप्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गयी हैं . इसके बावजूद भी बीजेपी ने मध्यप्रदेश में शीघ्र अपनी सरकार बनाने की बात कहकर कमलनाथ खेमे हलचल मचा दी हैं .राजनैतिक गलियारों में अब ये सुगबुगाह्ट तेज हो गयी हैं की जल्द ही कमलनाथ सरकार गिर जाएगी और बीजेपी एक बार फिर एमपी में अपनी सरकार बनाएगी . इस सुगबुगाह्ट के पीछे कुछ आंकड़े हैं जो हम आपको बताने जा रहे हैं ,  एमपी विधानसभा चुनाव में जहाँ बीजेपी को 109 सीट मिली थी वही कोंग्रेस 114 सीट जीतकर बाजी मार गयी क्योकि कोंग्रेस ने आनी निर्दलियो और छोटे दलों द्वारा जीती गयी सीटो का सहारा लिया था .



छोटे दल जो सकते है अलग :
जैसे ही सीएम कमलनाथ ने अपने मंत्रिमंडल की घोषणा की ठीक वैसे ही निर्दलीय और छोटे दलों के नेताओं की मीटिंग की खबर भी सामने आई, करीबन एक घंटे चली इस मीटिंग के बाद सभी नेता होटल से बाहर चले गये . छोटे दलों और निर्द्लियो के ऐसे मीटिंग करने से कमलनाथ सरकार के हाथ पाँव फुल गये हैं ,  इसका कारण यह भी हैं की बीजेपी के कुछ नेता पहले ही इस बात को कह चुके हैं की कमलनाथ सरकार ज्यादा दिन नही चलने वाली और एक बार शिवराज सिंह चौहान मुख्मंत्री की कुर्सी पर बैठेगे, अब कमलनाथ सरकार और कोंग्रेस इस बात से डरी हुई हैं की निर्दलियो और छोटे दलों के इन नेताओं के बीच क्या बात हुई हैं .



कुछ नेता है नाराज :
आपकी जानकारी के लिए बता दे की तीन निर्दलीय, बसपा के दो, एक सपा और डॉ. हीरालाल ने कोंग्रेस को समर्थन दिया हैं , कहा ये भी जा रहा हैं की इन नेताओं ने कोंग्रेस को पहले ही कह दिया था की वह समर्थन तभी देगे जब उनको मंत्रिमंडल में जगह दी जाएगी लेकिन इनमे से कुछ को ही कमलनाथ कैबिनेट में जगह दी गयी हैं . इसके बाद जयस इंडिया दल की तरफ से एक ट्विट आया हैं की हमारे सहयोग सेसे कोंग्रेस ने एमपी में सरकार बनाई हैं और अपने उस वादे को भूल गयी जिसमे कहा गया था की हमको भी मंत्रिमंडल में जगह दी जाएगी, कोंग्रेस को अपना वादा भूलना भारी भी पड़ सकता हैं .


के पी सिंह को भी नहीं मिली जगह :
आपकी जानकारी के लिए बता दे की कमलनाथ कबिनेट में नेता के पी सिंह को भी जगह नही दी गयी हैं जिसका भारी विरोध होना शुरू हो गया हैं . वही ऐसी जानकारी भी मिल रही हैं की के पी सिंह किसी गुप्त जगह चले गये हैं . अब आगे क्या होगा ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा लेकिन इस समय कमलनाथ सरकार पर राजनीति के जानकार बड़ा संकट बता रहे हैं .


Reactions