Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

लव जिहाद का एक और दर्दनाक केस आया सामने, दोसी को हुई सजा.



नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका भारत आइडिया में तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसी लड़की की कहानी के बाड़े में जिसने लव जिहाद के कारण 2016 में आत्महत्या कर ली थी और अब जाकर के उसको इंसाफ मिला है.

लव जिहाद का एक और दर्दनाक केस आया सामने, दोसी को हुई सजा.

क्या है मामला:
अनीता काफी पढ़ी-लिखी थी तथा सरकारी स्कूल में सिक्षिका के तौर पर तैनात थी.अनीता अपने जीवन में धर्म जब के बजाय इंसानियत को ज्यादा महत्व देती थी.फिर एक दिन अनीता की जिंदगी में एक निसार अहमद नामक व्यक्ति की एंट्री होती है जो उसे नाम तथा अपनी पहचान छिपाकर और हिंदू बनकर मिलता है.अनीता को निसार अहमद से मुलाकात के बाद प्यार हो जाता है और फिर वह दोनों शादी कर लेते हैं. शादी के कुछ दिनों के बाद जब अनीता को यह पता चलता है कि उसका पति हिंदू नहीं बल्कि मुस्लिम है बस उसके कुछ दिनों बाद अनीता की लाश मिलती है.




कैसे फंसी अनीता लव जिहाद में:
अब आप सोच रहे होंगे कि पूरा मामला क्या है तो मामला झारखंड के गुमला जिले के बिशनपुर का है.खबर के मुताबिक पत्नी को प्रताड़ित कर आत्महत्या के लिए उकसाने वाले पति तथा उत्तरप्रदेश के आजमगढ़ निवासी निसार अहमद को बिशुनपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है.बिशनपुर प्रखंड के चिप्री गांव के निवासी नंदलाल उरांव की बेटी अनिता कुमारी को निसार ने अपने प्रेम जाने वफा का शादी की थी. अनीता सरकारी स्कूल में शिक्षिका थी.आपको बता दें कि पुलिस ने वर्ष 2016 के 10 दिसंबर को घर के पीछे ही कुछ दूरी पर स्थित करंज के पेड़ पर फांसी पर लटकता हुआ अनीता का शव बरामद   किया था.घटना के बाद मृतक की मा मरियम देवी ने विशनपुर थाना में अपने दामाद निसार अहमद पर अनीता को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाकर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी.




पुलिस की तहकीकात के बाद निसार को भेजा गया जेल:
बताया जा रहा है कि निसार में अपनी पहचान छिपाकर खुद को हिंदू बता कर अनीता से शादी की थी. अनीता को निसार अहमद से दो बच्चे भी है.मृतक की मां मरियम ने  बताया कि निसार में खुद को हिंदू बता कर अनीता से शादी किया था जिसके बाद निसार का आधार कार्ड और वोटर आयडी देखने के बाद पता चला कि वह मुस्लिम है और उत्तरप्रदेश का रहने वाला है.बाद में निसार ने अनीता पर तरह-तरह के आरोप लगाकर अनीता के साथ मारपीट शुरू कर दी और आत्महत्या के लिए उकसाने लगा.अनीता के मां के बयान की अनुसार उसका एटीएम कार्ड भी निसार के पास रहता था तथा जो अनीता महीने की मेहनत से कमाती थी उसमें से एक पैसा भी वो अनीता को नहीं देता था घर का खर्च चलाने के लिए. निसार ने अनिता की तरह ही तीन और लड़कियों को झासा देकर शादी किया था और उनसे पैसे भी ऐठता था. पुलिस ने अब जाकर अपनी तहकीकात थोड़ी ही है और निसार को अदालत ने जेल भेज दिया है.



Breaking News
Loading...
Scroll To Top