भाजपा की ओर से एमपी में इकलौती मुस्लिम उम्मीदवार जाने कौन है?


नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में, तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं फातिमा रसूल सिद्धकी के बारे में जिनको भाजपा की सदस्यता मिलते ही टिकट भी मिला, भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें भोपाल उत्तर से अपना प्रत्याशी घोषित किया है.


भाजपा की ओर से एमपी में इकलौती मुस्लिम उम्मीदवार जाने कौन है?

क्या है मामला:
जी हां दोस्तों आपने सही सुना फातिमा रसूल सिद्धकी ने गुरुवार दोपहर को बीजेपी की भाजपा की सदस्यता ली और देर रात बीजेपी ने उन्हें भोपाल उत्तर से अपना प्रत्याशी भी घोषित कर डाला.बीजेपी ने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए गुरुवार रात अंतिम सूची में 7 प्रत्याशियों की नाम की घोषणा की, जिसमें भोपाल उत्तर सीट से फातिमा रसूल सिद्धकी को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आरिफ अकील के खिलाफ मैदान में उतारा गया है. फातिमा रसूल सिद्धकी गुरुवार को ही कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुई थी. हाथ मा पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता मरहूम रसूल अहमद सिद्धकी की बेटी है.उधर आरिफ इस सीट पर कांग्रेस के वर्तमान विधायक हैं और लगातार यहां से चुनाव जीते आ रहे हैं, आप की जानकारी हेतु बता दे कि 1992 से अब तक आरिफ ने इस सीट पर हार का सामना नहीं किया है.


देर रात मिली फातिमा को सदस्यता:
निजी सूत्रों के मुताबिक फातिमा रसूल सिद्धकी ने दोपहर को कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा देकर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली. फातिमा रसूल सिद्धकी ने महापौर आलोक शर्मा के निजी सरकारी बंगले पर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. भोपाल जिला अध्यक्ष सुरेंद्र नाथ सिंह फातिमा को आलोक शर्मा के निजी निवास स्थान पर लेकर पहुंचे थे जहां देर रात फातिमा रसूल सिद्धकी को भाजपा ने भोपाल उत्तर से अपना प्रत्याशी घोषित किया.


1992 से इस सीट पर नहीं जीती है बीजेपी:
दरअसल भोपाल उत्तर में मुस्लिम आबादी होने के कारण पार्टियां अपनी अपनी मुस्लिम उम्मीदवार को ही मैदान में उतरती आई हैं.फातिमा रसूल सिद्धकी बीजेपी की इकलौती महिला प्रत्याशी हैं जिन्हें बीजेपी ने उम्मीदवार बनाया है. अगर 2013 के विधानसभा चुनाव की बात की जाए तो आरिफ अकील के खिलाफ आरिफ बेग को भाजपा ने मैदान में उतारा था हालांकि आरिफ बेग ने आरिफ अकील को कड़ी टक्कर दी थी लेकिन वह जीत दर्ज नहीं कर पाए थे और 6000 वोट से चुनाव हार गए थे.अगर 2008 के चुनाव की बात करें तो बीजेपी ने वर्तमान महापौर आलोक शर्मा को मैदान में उतारा जिसने आलोक शर्मा ने आरिफ अकील को कड़ी टक्कर दी थी लेकिन वह जीत हासिल नहीं कर पाए थे.

Reactions