अमृतसर में पांच बिहारी समिति ६१ की मौत

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है भारत आईडिया में, आज हम बात करने जा रहे हैं अमृतसर में घटे एक रेल दुर्घटना के बारे में जिसमें ५ बिहार के रहने वालों की भी मौत हो गई ।
 


दशहरा पर्व पर भारी लापरवाही से अमृतसर के जोड़ा फाटक में शुक्रवार रात बिहार के ५ समेत १७ लोगों की ट्रेन से कटकर मौत हो गई और १४३ से भी ज्यादा लोग घायल अस्पतालों में भर्ती हैं। लेकिन अब तक किसी पर बड़ी कार्रवाई नहीं की गई, नहीं किसी पर जिम्मेवारी तय हुई।


सभी ने झाड़ा पल्ला , हादसे के जिम्मेदार हम नहीं ...

केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, नवजोत सिंह सिद्धू, आयोजन कर्ता कांग्रेस पार्षद विजय मदान के बेटे सौरभ मदान और मुख्य अतिथि नवजोत कौर सिद्दू समेत सभी ने घटना से पल्ला झाड़ लिया। गवर्नमेंट रेलवे पुलिस ने भी बेहद कमजोर एफ आई आर दर्ज की है। जिसमें किसी आरोपी का नाम नहीं है। गैर इरादतन हत्या की धाराएं लगाई गई है। पुलिस ने डीएमयू के लोको पायलट को हिरासत में लिया और दोपहर तक पूछताछ कर के छोर दिया।
● डिविजनल कमिश्नर के नेतृत्व में होगी मजिस्ट्रेट जांच,तीन मंत्रियों की भी कमेटी
● जीआरपी ने दर्ज की एफआईआर , केस मेंं आरोपी का नाम नही


★ १४३ लोग हादसे मेंं जख्मी , अस्पतालों मेंं हो रहा इलाज
★०३ दिन का अमृतसर में शोक, शिक्षण संस्थाएं एवं कार्यालय       बंद  रहेंगे।
★१६ घन्टे बाद घटनास्थल पर पहुंचे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन     अमरिंदर सिंह।
★०५ लाख पंजाब व दो लाख केंद्र सरकार देगी मृतकों के परिजनों को।


संपादक: आशुतोष उपाध्याय

Reactions