स्वर्णो द्वारा भारत बंद में कहाँ क्या घटा पढ़े।

भारत बंद को देखते हुए मध्यप्रदेश के दस जिलों में धारा 144 लगा दी गयी थी। 

मध्यप्रदेश के भिंड, ग्वालियर, अशोक नगर, दतिया, श्योपुर, छत्तरपुर, सागर और नरसिंह पुर में धरा 144 लगाई गयी। 

144 धारा लगे जगहों पर स्कूल, कॉलेज, सरकारी संस्थान सब बंद रहे। 

दलितों द्वारा भारत बंद में मध्यप्रदेश में ही सबसे ज्यादा हिंसा हुई थी। 

मध्यप्रदेश के कई जिलों में आगजनी की भी खबर है। 

मध्यप्रदेश में कांग्रेस के मुख्य मुख्यालय पर दिखाए गए काले झंडे। 

ग्वालियर में राहुल गाँधी और ज्योतिराज सिंधिया के पोस्टरो पर काले कपड़े लगाए गए। 

मध्यप्रदेश में बंद के हालत को देखकर कई राजनेताओ के घर की सुरक्छा बढ़ाई  गयी। 

मध्यप्रदेश में कई जिलों में कोंग्रेस के कार्यकर्ता भी भीड़ के साथ बंद में शामिल। 

बिहार में स्वर्णो द्वारा भारत बंद का सबसे ज्यादा असर देखा जा रहा है। 

बिहार में दोपहर के समय खगरिया जिले में एनएच 31 को स्वर्णो द्वारा बंद कर दिया गया। 

बिहार के कई जिलों में नरेंद्र मोदी जी विरुद्ध नारे लगे। 

बिहार में लगभग जिलों से एक ही मांग है की सुप्रीम के आदेश का पालन किया जाये। 

सुबह से  लगभग जिलों  की भारी तैनाती देखि जा रही है। 

मुज़फ़पुर में बंद समर्थको ने जनता अधिकार पार्टी के सांसद पप्पू यादव पर भी हमला किया। 

बिहार के जहानाबाद में बंद समर्थको ने पथराव किया जिसमे एएसपी संजय सिंह घायल हो गये। 

बिहार में आरा जिले में बंद समर्थको और पुलिस के बिच झड़प भी हुई जिसके बाद पुलिस को आशु के गोले छोड़ने पड़े। 

बिहार के कई जिलों में आगजनी, पथराव, जाम की खबर मिली है। 

नवादा जिले में बंद समर्थको ने बाजार में घूम घूम कर दुकाने बंद करवाई। 

बिहार के लाखिसराये में एनएच 80 को बंद समर्थको ने बंद किया। 

बिहार के छपरा में बंद समर्थको ने एनएच 18 जाम किया। 

बिहार के मधुबनी में बंद समर्थको ने एनएच 105 जाम लगाया। 

बिहार में आरा में लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को भी रोका गया 


सपादक : विशाल कुमार सिंह 

Reactions