Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

जाट समुदाय ने बीजेपी को दी धमकी कहा कही भी बीजेपी का रास्टीय कार्यक्रम नहीं होने देंगे

भारत की बर्बादी का कारण और कुछ नहीं सिर्फ आंदोलन है कभी मजदुर आंदोलन कभी किशान आंदोलन अब धमकी मिल रही है जाट आंदोलन की, पढ़े पूरी खबर : 



अखिल भारतीय जाट आरछन संघर्ष समिति के बैनर टेल शनिवार को जसिया में आयोजित जा महासम्मेलन ने बीजेपी के के हर कार्यक्रम का विरोध करने का निर्णय लिया है। समिति के प्रेसिडेंट यशपाल मलिक ने कहा की प्रधानमंत्री मोदी जी ने 2015 में जाट आरछण देने का वादा किया था लेकि अब वो वो अपने वादे से मुकर गए है तो ऐसे में जाट समाज बीजेपी के हर कार्यक्रम का पूर्ण विरोध करेगी हम सरकार के खिला धरना देंगे असहयोग आंदोलन चलाएंगे। हम आपको बताना चाहेंगे की इस महा जाट सम्मलेन में काफी बरी संख्या में लोग पहुंचे थे जिसमे बारी बारी से जाट नेताओ ने राजकुमार सैनी को बजी कोशा। इसी बिच झझर से ए जाट समिट के एक सदस्य ने तो यहाँ तक बयान दे दिया की जी भाई चारा तोड़ेगा उसका सिर उतार देंगे।

किशान आंदोलन कितनी तेजी से बढ़ रहा है आपसबको पता है अब इसका असर देखिये क्या होने वाला आज हम उसी पर बात करेंगे 

जाट समिति ने कहा की अगर 16 अगस्त से पहले अगर बीजेपी का हरियाणा में कोई राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम हुआ तो उस से पहले ही हम आन्दोलन सुरु कर देंगे।

एक बात बोलना चाहूंगा ये आतंकवादियों को छीप के हमला करने की प्रविर्ती नहीं जाएगी फिर से हुआ सेना के जवानो पर हमला :

जाट समिति ने कहा की सरकार जल्द से जल्द उच्चतम न्यालय में अपना सही पक्छ रखे और स्टे हटवाए व उच्च न्यालय में आकारों को रख कर जाट आरछण लागु करवाए।

वो भारतीय कानून जो शायद आपको थोड़ा अटपटा लगे लेकिन भारतीय होने के नाते ये कानून हमें पता जरूर होना चाहिए, आज हम इसी पर चर्चा करेंगे  :

आगे जाट समाज इ कहा की 15 जून 2018 से 15 अगस्त 2018 तक हरयाणा के सभी गाओ, हल्का, ब्लॉक, तहसील व जिले स्तर पर भाईचारा सम्मलेन आयोजित करके अपने साथ पिछड़ी व दलित जातियों के लोग व किशन संगठन व सरकार के खिलफ आंदोलन करने वाले सभी संगठनो को एक करेगी। 


सम्पादक :विशाल कुमार सिंह  
भारत आईडिया से जुड़े : 
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 . 
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है। 
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।
Breaking News
Loading...
Scroll To Top