सबसे बरे मुस्लिम देश में रामायण का किया जाता है मंचन पढ़े पूरी खबर

जहाँ एक तरफ पाकिस्तान एक मुस्लिम देश होकर पूरी दुनिया में अपनी कॉम को बदनाम कर रहा है वही एक देश ऐसा भी है जो आबादी के लिहाज से सबसे बरा मुस्लिम देश है लेकिन पाकिस्तान से एकदम अलग, पढ़े पूरी खबर :







हमारे माननिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडोनेशिया के दौरे पर है। इंडोनेशिया को हम सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश मान सकते है। इस देश की सबसे खास बात ये है की इस देश में जितना सम्मान मुस्लिम धर्म को दिया जाता है उतना ही सम्मान हिन्दू धर्म और इसकी संस्कृति को दिया जाता है। इंडोनेशिया में आपको हिन्दू धर्म के हर देवी देवताओ की प्रतिमाये एवं मन्दिर देखने को मिलेंगी। इंडोनेसिया की राजधानी जकार्ता में भगवन कृष्ण और अर्जुन की लगी मुर्तिया काफी मशहूर है।
यहाँ मुस्लिम कम्युनिटी के लोग मंदिरो में रामायण का मंचन करते दिख जायेंगे।

जाने आज किस सैतान की हुई थी मौत इसी ने शुरुआत किया था देश में धर्म परिवर्तन का घिनौना कार्य

इंडोनेसिया में छह धर्मो को मान्यता है, उसमे से एक हिन्दू धर्म भी है। हिन्दू धर्म का इंडोनेसिया के बाली, जावा, और लंबोक में काफी बोलबाला है। माना जाता है की इंडोनेशिया में हिन्दू धर्म की शुरुआत पाँचवी शादी में हो गयी थी। भारत और इंडोनेशिया के बिच वैपार सम्बन्ध ईशा मशीह के जन्म से पहले से चल रहा है,  इसी के कारण दोनों देशो के बिच सांस्कृतिक तालमेल देखने को मिलती है। इसी वैपार के चलते इंडोनेशिया में ताकतवर श्री विजय साम्राज्य पनपा था और इनके शासनकाल में हिन्दू और बौद्ध धर्म का इस देश में काफी प्रभाव रहा था। हालाँकि अभी के समय में यहाँ हिन्दू मात्र 2 प्रतिसत है।

पढ़े एक ऐसा महापुरुष जिसने अकेले अंग्रेजो की हालत ख़राब कर दी थी ,फिर भी नहीं मिली इतिहास में जगह

इंडोनेशिया में हिन्दुओ की इतनी कम आबादी होने के बावजूद भी यहाँ पर हिन्दू धर्म तथा इसकी संस्कृति का काफी बोलबाला है। एक मुस्लिम देश में रामायण का मंचन मुश्लिमों द्वारा भले ही किसी को हैरान करता हो लेकिन ये यहाँ का एक सांस्कृतिक हिस्सा है। जावा के योग्यकर्ता शहर  वाले अली नूर सोत्या रमजान के समय रोजा रखते है और दिनभर काम करनेके बाद  शाम में मंदिर में जाकर रामायण का मंचन करते है। सोत्या 100 लोगो के डांसर्स ट्रूप का हिस्सा है है जो सप्ताह में तीन दिन रामायण का मंचन करती है। काश यही सोच  हर देश की होती की  हम कसी भी धर्म के हो लेकिन हर धर्म की संस्कृति का सम्मान करना ही सबसे बरी इंसानियत है।

कौन था महायोद्धा तछक जिसकी तलवार ने पिया था 10 हजार अरबी सैनिको का खून,क्यों नहीं मिली इतिहास में जगह 

सम्पादक : विशाल कुमार सिंह

भारत आईडिया से जुड़े :
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 .
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।
Reactions