पाकिस्तान के पास मात्र 10 दिन का ही बचा है पैसा खर्च के लिए पढ़े पूरी खबर

पाकिस्तान वो मकार देश है जो आये दिन हमारे देश पर आतंकी हमला करता रहता है लेकिन अब पाकिस्तान की ऐसी हालत हो गयी है की उसके पास मात्र 10 दिन का ही निर्यात का पैसा बचा है,पढ़े पूरी खबर 



पाकिस्तान जो आये दिन हम पर हमला करता रहता है उसकी आर्थिक हालत बहोत ख़राब है। इंटरनेशनल मार्केट में पाकिस्तान की करेंसी वैल्यू लगातार गिरती जा रही है। आपको जानकर हैरानी होगी की 1 अमेरिकी डॉलर के मुकाबले पाकिस्तान की करेंसी वैल्यू 115 रुपये है। एक रिपोर्ट के मुताबित पाकिस्तान के पास अब महज 10.3 अरब डॉलर की विदेशी करेंसी ही रिज़र्व में बची है, जिससे सिर्फ 10 हफ्तों का ही सामन इम्पोर्ट किया जा सकता है।

आर्यभट ने 0 का अविष्कार किया था या खोज ??

पाकिस्तान के प्रमुख अखबार द डॉन के मुताबित पकिस्तान अपनी आर्थिक तंगी से निपटने के लिए एक बार फिर से से चीन के शरण में जा सकता है और चीन से 1 से 2 अरब डॉलर का कर्ज ले सकता है। हम आपको बता दे की रॉयटर्स न्यूज़ एजेंसी के मुताबित पाकिस्तान का चीन और इसको बैंक से लिया गया फाइनेंसियल ईयर का कर्ज 5 बिलियन डॉलर तक पहुँच जायेगा।

हिन्दुओ के सबसे बड़े धर्माचार्य श्री शंकराचार्य का क्या कहना है संघ और भाजपा के प्रति

फिननाशल टाइम्स की रिपोर्ट के  मुताबित विदेशो में नौकरी कर रहे पाकिस्तानी देश में जो पैसा भेजते थे अब उसमे में 70 % तक की कमी आगयी है और इसके साथ ही पाकिस्तान का आयात बढ़ा है वही निर्यात घटा है। चाइना पाकिस्तान इकनोमिक कॉरिडोर में  लगी कम्पनीज के भुगतान के कारण भी पाकिस्तान को ये दिन देखना पर रहा है, बता दे को ये कॉरिडोर 60 अरब डॉलर का मेगा प्रोजेक्ट है।

जाने जलियावाला बागकाण्ड की कहानी , वो भयवादीन जिसमे अनेक सपूत हुए थे शहीद


अमेरिका से अब नहीं मिल रही है मदद, जब से डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के राष्ट्पति बने है तब से पाकिस्तान को आर्थिक मदद जो अमेरिका से मिलती थी उसे काफी हद तक कम कर दिया गया है। अमेरिका के फॉरेन मिनिस्टर माइक पोम्पियो के अनुसार जो बची खुची मदद पाकिस्तान को अमेरिका से मिलती है उसमे और भी कमी आयेगी।

मंदिर ने लागु किया ड्रेस कोड मिनी स्कर्ट या जीन्स में प्रवेश वर्जित

चीन के हाथो कही न हो जाये गुलाम, अमेरिका से पाकिस्तान की दुरी बढ़ने के बाद पाकिस्तान चीन पर पूरी तरह से निर्भर हो गया है और इस कारण से पाकिस्तान चीन के कर्ज के निचे दबता चला जा रहा है। ऐसे ही श्रीलंका भी चीन के जाल में फस चूका है जिसके कारन श्रीलंका को अपनी सबसे महत्वपूर्ण हंबनटोटा बंदरगाह 99 साल के लिए चीन को देना परा .

सम्पादक : विशाल कुमार सिंह
भारत आईडिया से जुड़े :
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 .
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।

Reactions