Default Image

Months format

View all

Load More

Related Posts Widget

Article Navigation

Contact Us Form

404

Sorry, the page you were looking for in this blog does not exist. Back Home

Ads Area

दिल्ली के कोचिंग सेंटर में हिंदू छात्रों के धर्मांतरण की कोशिश :

नई दिल्ली के शकूरपुर इलाके में एक कोचिंग सेंटर JMD में मुस्लिम ट्यूटर रिजवान द्वारा हिंदू छात्रों का ब्रेनवॉश करने का मामला सामने आया है। छात्रों को भगवान की पूजा छोड़कर अल्लाह की इबादत करने के लिए मजबूर किया जा रहा था। इस मामले में एक छात्र के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। कोचिंग सेंटर के नाम और ट्यूटरों के बर्ताव को लेकर गंभीर आरोप लगे हैं। मामले की जांच जारी है।

कोचिंग सेंटर में ब्रेनवॉश की घटना :
नई दिल्ली के शकूरपुर इलाके से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक कोचिंग सेंटर JMD में मुस्लिम ट्यूटर रिजवान द्वारा हिंदू छात्रों का ब्रेनवॉश करने का आरोप लगाया गया है। छात्रों को भगवान की पूजा छोड़कर अल्लाह की इबादत करने के लिए कहा जा रहा था। इस मामले में कोचिंग सेंटर में पढ़ने वाले एक छात्र के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

शिकायत पत्र का विवरण :
शिकायत पत्र में छात्र के पिता ने बताया कि जब उन्होंने अपने बच्चे का एडमिशन कोचिंग सेंटर में कराया था, तो उनकी मुलाकात किसी संजय से हुई थी। बाद में पता चला कि वहाँ रिजवान, अबरार, इरफान पढ़ाते हैं। पिता ने सुभाष पैलेस थाने में शिकायत दी है और बताया कि उनका बच्चा जेएमडी कोचिंग में पढ़ता है और पिछले कई दिनों में उनसे कुरान के बारे में पूछता था।

छात्रों पर दबाव डालना :
शिकायत के अनुसार, बच्चे ने बताया कि कोचिंग में पढ़ाने वाले रिजवान टीचर उससे बार-बार कुरान पढ़ने को कह रहे हैं और कलमा पढ़ने के लिए दबाव बना रहे हैं। ट्यूटरों ने बच्चों को कहा, "तुम्हारा हिंदू धर्म तो बकवास है। तुम्हारे देवी-देवताओं में कोई शक्ति भी नहीं है। इसलिए अब से कुरान और कलमा पढ़ना है। इसमें बहुत शक्ति है। इसी से बलवान बनोगे।"

कोचिंग सेंटर में फोन कॉल :
लड़के के पिता ने जब सारी बात को गंभीरता से लेते हुए कोचिंग सेंटर में फोन किया और वहाँ एक मैडम से बात की, तो मैडम ने रिजवान सर से बात कराई। रिजवान से बच्चे के पिता ने पूछा कि आप बेटे को क्यों मजबूर कर रहे हैं। इस पर रिजवान भड़क गया और गाली-गलौच शुरू कर दी। शिकायत में कहा गया कि रिजवान ने बच्चे के पिता को बोला, "मैं दाऊद इब्राहिम का बाप हूँ। तेरे पूरे परिवार को नंगा नाच कराऊँगा और फिर मुझे गंदी गंदी गालियाँ दी गईं।"

पत्रकार स्वाति गोयल शर्मा का बयान :
स्वराज्य की वरिष्ठ पत्रकार स्वाति गोयल शर्मा ने इस मामले में ट्वीट किया और शिकायत पत्र साझा किया है। उन्होंने कहा, "मैंने लड़कों के पिता से बात की और सच्चाई यह है कि जिस कोचिंग सेंटर में नाबालिग हिंदू लड़कों को इस्लाम धर्मांतरण करवाया जा रहा है, उस कोचिंग सेंटर का नाम 'जय माता दी' है और इसके बोर्ड पर जेएमडी लिखा है।"

छात्र का वर्जन :
मीडिया में बच्चे का वर्जन भी सामने आया है। जनमत की पुकार नामक चैनल पर बच्चा बोलता दिख रहा है कि, "रिजवान सर बोलते थे तुम्हारे हिंदू देवी-देवताओं में शक्ति नहीं है। हमारे अल्लाह में है।" पिता बोलते दिखते हैं कि माता-पिता अपने बच्चों को कोचिंग शिक्षा के लिए भेजते हैं, न कि ब्रेनवॉश कराने के लिए। उन्होंने कहा कि इन लोगों की मानसिकता ऐसी है कि ये टीचर नहीं हो सकते। इनको जिहादी कहा जाए तो बहुत अच्छा होगा।

कोचिंग सेंटर का नाम और ब्रेनवॉश :
पिता ने कहा कि जब उन्होंने लड़कों का एडमिशन करवाया, तो उस समय संजय नामक व्यक्ति से उनकी बातचीत हुई थी। पिता को तब नहीं पता था कि ट्यूशन में रिजवान और अबरार जैसे टीचर निकलेंगे और बच्चों को धर्मांतरण के लिए मजबूर करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वो किसी मजहब पर टिप्पणी नहीं करना चाहते, लेकिन जब वो लोग बच्चों को शिक्षा के लिए भेजते हैं, तो उनका ब्रेनवॉश क्यों किया जा रहा है।

निष्कर्ष :
यह घटना न केवल दिल्ली के शिक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाती है, बल्कि समाज में धार्मिक सहिष्णुता और एकता की आवश्यकता को भी उजागर करती है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस को त्वरित और निष्पक्ष जांच करनी चाहिए। इसके अलावा, ऐसे कोचिंग सेंटरों की नियमित निगरानी भी आवश्यक है ताकि भविष्य में ऐसी घटनाएं न हों।


आपकी प्रतिक्रिया

खबर शेयर करें

Post a Comment

Please Allow The Comment System.*