क्या है भारत-चीन सीमा का पूरा मामला जरूर जानें

भारतीय सेना राष्ट्र की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध है :- भारतीय सेना का आधिकारिक बयान 



भारतीय सेना और चीनी सेना के अधिकारियों की मीटिंग में यह निश्चय किया गया था कि दोनों पक्ष पीछे जाएंगे जब भारतीय सेना का पेट्रोलिंग दल यह सुनिश्चित करने गया की चीनी सेना वास्तव में पीछे जा रहे हैं या नहीं तब चीनी सैनिकों ने पत्थरों से भारतीय पेट्रोलिंग पार्टी पर आक्रमण कर दिया।

चीनी सैनिक नंबर में अधिक थे इसीलिए भारतीय सैनिकों ने रीइन्फॉर्समेंट कॉल की और दोनों पक्षों में पत्थरों से और रॉड्स से लड़ाई शुरू हुई, जिसके बाद चीनियों ने भी रीइन्फॉर्समेंट बुलाई, यह सब कुछ एक संकरी पहाड़ी पर हो रहा था और सैनिकों कि संख्या 300 के लगभग थी, वह पहाड़ी संकरी थी जो इतने लोगों के भार से दरक गई जिसके कारण भारत और चीन दोनों ही के कई सैनिक नीचे गिर गए और कुछ गहरे पानी में गिरे इसी कारण से अधिकांश कैज़ुएल्टी हुईं हैं।

परंतु इस सबके बीच में सुबह तक हाथापाई चलती रही जिसमें दोनों ओर से कई सैनिक गंभीर रूप से घायल हुए और चीनी कमांडिंग ऑफिसर भारतीय सैनिकों द्वारा पीट पीटकर मार दिया गया।

इस पूरे प्रकरण में और लड़ते हुए पहाड़ी से गिरने के कारण कम से कम अभी तक 20 भारतीय सैनिक वीरगति को प्राप्त होने का समाचार आ रहा है, जबकि चीनी सैनिक संख्या में अधिक होने की वजह से अधिक संख्या में पहाड़ी से गिरे और चीनी सेना के मरने वालों की संख्या 40-50 तक है।

भारत की अखंडता और संप्रभुता की रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले सभी बलिदानी वीर जवानों को भावभीनी श्रद्धांजलि।


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Reactions