शर्म करो ठाकरे सरकार, प्रेगनेंट महिला की अस्पतालों का चक्कर लगाते लगाते हुई मौत, पढ़े रिपोर्ट

पिछले सप्ताह मुंबई में अस्पताल की एक और बड़ी लापरवाही सामने आई है जिसकी वहज से एक प्रेग्नेंट महिला की मौत हो गई. मुंबई के मुंब्रा में 25-26 मई की दरम्यानी रात एक 22 साल की प्रेग्नेंट महिला ने अस्पताल द्वारा भर्ती नहीं किए जाने की वजह से रास्ते में ही दम तोड़ दिया.मृतक महिला का नाम महक खान है. महक को 25 मई की रात प्रसव पीड़ा हो रही थी. जिसके बाद उसे ऑटो में बैठाकर अस्पताल ले जाया गया. लेकिन अस्पताल ने मरीज को भर्ती करने से इनकार कर दिया. परिजन इसी तरह गर्भवती महिला को ऑटो में बैठाकर दो अन्य अस्पताल भी ले गए. चौथे अस्पताल के लिए जाते हुए ऑटो के अंदर ही उस महिला की मौत हो गई.



क्या कहना है परिवार वालो का :-
परिवारवालों ने बताया कि महक को जैसे ही प्रसव पीड़ा शुरू हुई उसे ऑटो से अस्पताल ले गए. सबसे पहले वो बिलाल अस्पताल पहुंचे लेकिन उन्होंने भर्ती नहीं किया. इसके बाद वे लोग ऑटो में सवार होकर प्राइम क्रिटिकेयर और फिर यूनिवर्सल अस्पताल ले गए. सभी ने महिला को भर्ती करने से इंकार कर दिया.


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


Reactions