Default Image

Months format

View all

Load More

Related Posts Widget

Article Navigation

Contact Us Form

404

Sorry, the page you were looking for in this blog does not exist. Back Home

Ads Area

Delhi Violence Breaking : दिल्ली दंगो से जुड़ी अब तक की 7 TRENDING खबर

समाचार के मुख्य बिंदु :-

  1. Delhi Violence: हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत, फटकार के बाद आज हाई कोर्ट में जवाब देगी पुलिस :-
  2. Delhi Violence: NSA डोभाल ने दी शाह को रिपोर्ट, दो घंटे की बैठक के बाद बोले- सब शांत है :-
  3. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा को लेकर 106 लोग गिरफ्तार, 18 एफआईआर दर्ज :-
  4. हिंसा पीड़ितों को हर तरह की मदद पहुंचाएं: दिल्ली के गुरुद्वारों से अकाल तख्त जत्थेदार :-
  5. रजनीकांत ने दिल्ली हिंसा को बताया गृह मंत्रालय और खुफिया तंत्र की नाकामी :-
  6. दिल्ली से मुंबई ने लिया सबक, आजाद मैदान के अलावा कहीं प्रदर्शन की इजाजत नहीं :-
  7. दिल्ली पुलिस को राजनीतिक आकाओं के आदेश का इंतज़ार नहीं करना चाहिए था: पूर्व यूपी डीजीपी :-



Delhi Violence: हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत, फटकार के बाद आज हाई कोर्ट में जवाब देगी पुलिस :-Delhi Violence: दिल्ली हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, दिल्ली पुलिस के लिए गुरुवार का दिन अहम होने वाला है. पुलिस को नेताओं का भड़काऊ वीडियो देखने के बाद गुरुवार को कोर्ट में जवाब देना है.
Delhi Violence: NSA डोभाल ने दी शाह को रिपोर्ट, दो घंटे की बैठक के बाद बोले- सब शांत है :- अजीत डोभाल ने बुधवार को हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया और लोगों से बातचीत की. इसके बाद उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक की और हालात की जानकारी दी.
उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा को लेकर 106 लोग गिरफ्तार, 18 एफआईआर दर्ज :-दिल्ली पुलिस ने बताया है कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 18 एफआईआर दर्ज की गई हैं। वहीं, बुधवार को हिंसा की घटना रिपोर्ट नहीं हुई है और उत्तर-पूर्वी दिल्ली से पीसीआर कॉल में भी कमी आई है। साथ ही, पुलिस ने 2 हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं।
हिंसा पीड़ितों को हर तरह की मदद पहुंचाएं: दिल्ली के गुरुद्वारों से अकाल तख्त जत्थेदार :- दिल्ली में हिंसा को देखते हुए अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने बुधवार को दिल्ली के सभी गुरुद्वारों से कहा है कि वह हिंसा पीड़ितों को हर तरह की मदद पहुंचाएं। उन्होंने हिंसा की निंदा करते हुए एक प्रेस नोट जारी किया जिसमें लिखा है, "मदद मांगने वाले किसी भी पीड़ित की देखभाल करना सिख धर्म सिद्धांत है।"

रजनीकांत ने दिल्ली हिंसा को बताया गृह मंत्रालय और खुफिया तंत्र की नाकामी :-रजनीकांत ने कहा कि ये खुफिया एजेंसियों की विफलता है और इससे साबित होता है कि गृह मंत्रालय भी इस घटना के मामले में फेल साबित हुआ है. प्रदर्शन और प्रोटेस्ट्स शांतिपूर्वक तरीके से हो सकते हैं लेकिन हिंसक अंदाज में नहीं. अगर हिंसा भड़कती है तो फिर उससे सख्ती से निपटने की जरुरत है.
दिल्ली से मुंबई ने लिया सबक, आजाद मैदान के अलावा कहीं प्रदर्शन की इजाजत नहीं :-मुंबई में प्रदर्शन करने के लिए जो लोग या ग्रुप योजना बना रहे हैं, उनके लिए मुंबई पुलिस ने सख्त संदेश जारी किया है. मुंबई पुलिस के मुताबिक आज़ाद मैदान के अलावा मुंबई के किसी भी और हिस्से में प्रदर्शन करने की इजाज़त नहीं दी जाएगी.

दिल्ली पुलिस को राजनीतिक आकाओं के आदेश का इंतज़ार नहीं करना चाहिए था: पूर्व यूपी डीजीपी :- उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने दिल्ली हिंसा को लेकर कहा है कि दिल्ली पुलिस को राजनीतिक आकाओं के आदेश का इंतज़ार नहीं करना चाहिए था। उन्होंने प्रकाश सिंह बनाम भारत सरकार केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का ज़िक्र करते हुए कहा, "अब देश को ऐसे पुलिसबल की ज़रूरत है...जो अनुचित राजनीतिक हस्तक्षेप से प्रभावित ना हो।"


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


आपकी प्रतिक्रिया

खबर शेयर करें