मोदी ने इसरो चीफ को गले लगाया तो एंकर अंजना ओम कश्यप ने तोड़ा मौन, बोलीं...




चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम को कोई नुकसान नहीं, संपर्क स्थापित करने की कोशिशें जारी: इसरोभारत के चंद्रयान-2 मिशन को शनिवार को एक बड़ा झटका लग गया था। चंद्रयान का लैंडर विक्रम चांद की सतह से बस 2 किमी दूर रहने के बाद भटक गया और उससे इसको का संपर्क भी टूट गया। इस खबर के आते ही वैज्ञानिकों और नेताओं के साथ पूरे देश में मायूसी छा गई थी क्योंकि भारत इतिहास रचते रचते चूक गया। हालांकि इस विफलता से हताश इसरो चीफ के सिवन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गले लगा लिया। उनको गले लगाते ही एंकर अंजना ओम कश्यप ने चुप्पी तोड़ दी।

समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस , हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



शनिवार को जिस वक्त ये घटना घटी, उसके बाद से ही इसरो में मायूसी छा गई थी। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी खुद ही वहां मौजूद थे और लगातार लैंडिंग पर नजर बनाए हुए थे। रात में तीन बजे जैसे ही उनको ये हैरान करने वाली खबर मिली, वो वहां से चले गए लेकिन सुबह फिर से इसरो केन्द्र पहुंचे। मोदी ने वहां पर परेशान दिख रहे इसरो चीफ को गले लगा लिया और ढांढस बंधाया। इतना ही नहीं उन्होंने इसको के प्रयास की तारीफ की और आगे बढ़ते रहने की सलाह दी।





मोदी ने जैसे ही इसरो चीफ को गले लगाया, पूरे सोशल मीडिया में मोदी छा गए। मीडिया में भी इस फोटो को देखकर खलबली मच गई। इसी के बाद मशहूर एंकर अंजना ओम कश्यप ने इस पर अपनी चुप्पी तोड़ दी। अंजना ने फोटो पर मोदी की तारीफ करते हुए अपने ट्विटर पर लिखा कि जिन वैज्ञानिकों पर हिंद को नाज है, उन्हें मिला प्रधानमंत्री का साथ है। इतना ही नहीं अंजना ने वैज्ञानिकों को रामधारी सिंह दिनकर की एक कविता सुनाते हुए कहा कि सफलता और असफलता बस पड़ाव है, अंत नहीं है।

आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



Reactions