Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

जय श्री राम के नाम के नारे पर सत्रुधन सिन्हा उतरे ममता के बचाव में और दिया ये घटिया बयान !!




पश्चिम बंगाल इस समय भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के बीच जंग का अखाड़ा बन चुका है। दोनों दलों के समर्थकों में जमकर हिंसा भी हो रही है और शनिवार को चार बीजेपी कार्यकर्ताओं की मौत भी हो गई थी। ममता को लगातार जय श्रीराम लिखे पोस्टकार्ड भेजे जा रहे हैं। इसी बीच कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ममता बनर्जी के समर्थन में आ गए हैं। एनडीटीवी न्यूज वेबसाइट के मुताबिक उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर जय श्रीराम लिखे पोस्टकार्ड पर चुप्पी तोड़ दी और बड़ा बयान दे दिया है।




इस वजह से भेजे जा रहे हैं ममता को पोस्टकार्ड
ममता बनर्जी को पोस्टकार्ड भेजने की वजह उनके साथ घटी दो घटनाएं हैं जिनमें अपने सामने जय श्रीराम का नारा लगते ही ममता नाराज हो गईं। वहीं एक मामले में तो पुलिस ने नारे लगा रहे लोगों को गिरफ्तार तक कर लिया। इसी मुद्दे को बीजेपी ने उछाल दिया और ममता बनर्जी को श्रीराम के नारे का विरोध करने वाला बता दिया। इस घटना के बाद से ही पूरे देश से ममता को जय श्रीराम लिखे पोस्टकार्ड भेजे जा रहे हैं। हालांकि ममता कह चुकी हैं कि उनको राम के नाम से नहीं बल्कि राम के नाम पर हो रही राजनीति से समस्या है।





कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने इस मुद्दे पर अपनी चुप्पी तोड़ दी है। पोस्टकार्ड के मुद्दे पर वो सीएम ममता बनर्जी के समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने ट्विट में कहा कि ममता बनर्जी को बिना किसी वजह के उकसाना ठीक बात नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने अंग्रेजी में इनफ इज इनफ भी कह दिया। वहीं शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि राम के नाम पर हो रही सियासत बंद होनी चाहिए। वो बोले कि चुनाव के बाद ममता बनर्जी का अपमान किया जा रहा है औऱ इसको देश की जनता देख रही है।




Breaking News
Loading...
Scroll To Top