• ताज़ा खबर

    जया प्रदा को होटल मालिक नहीं देते थे कमरा, जानिए क्यों

    अभिनेत्री जया प्रदा एक बार फिर से रामपुर लोकसभा सीट से ताल ठोक रही है। इस बार भाजपा ने उन्हें आजम खान के सामने उतारा है। सपा के पूर्व मंत्री आजम खान गठबंधन के टिकट पर रामपुर से लोकसभा चुनाव लड़ रहे है। आजम खान ने कभी जया प्रदा को रामपुर से सपा के टिकट पर चुनाव लड़वाया था। लेकिन बाद में दोनों के बीच में मतभेेद हो गए। रामपुर से जया प्रदा इससे पहले भले ही 2 बार सांसद रही। लेकिन एक दौर में होटल मालिक उन्हें कमरा नहीं देते थे। जिसकी वजह से उन्हें मुरादाबाद रुकना पड़ता था। राजनीतिक सूत्रों की माने तो इसकी वजह से जया प्रदा 2014 के बाद अब 5 साल बाद रामपुर लौटी है।
    2012 में यूपी में उत्तर प्रदेश में सपा सरकार बनी तो आजम खान का रुतबा सीएम से कम नहीं था। सूत्रों की माने तो उस दौरान जया प्रदा को रामपुर में होटल मालिक कमरा नहीं देता था। जया प्रदा जिस होटल में जाती थी। होटल मालिक उन्हें कमरा देने से इंकार कर देते थे। सत्तारूढ़ दल के मंत्री आजम खान का खौफ होटल मालिकों पर साफ दिखाई देता था। यहीं वजह है कि उनके ही संसदीय क्षेत्र में ठहरने के लिए कमरा नहीं मिल पाता था। जय प्रदा को मुरादाबाद में रुकना पड़ता था। हालांकि उस दौरान जया प्रदा के इस मुद्दे को लेकर भाजपा ने आजम खान आैर सपा सरकार को आड़े हाथ लिया था। यह मसला राजनीतिक भी बना।
    कभी आजम खान से जया प्रदा को लड़ाया था चुनाव
    आजमखान ने कभी जया प्रदा को रामपुर से चुनाव लड़ाया था। जयप्रदा पहली बार 2004 में सपा से रामपुर से लोकसभा चुनाव लड़ी आैर संसद पहुंची। इस दौरान आजम खान ने जया प्रदा को चुनाव लड़ाया था और उनके लिए वोट मांगे थे। बाद में आजम खान आैर जया प्रदा के बीच मेंं मतभेद पैदा हो गए। सपा के कद्दावर नेता रहे अमर सिंह और जया प्रदा की नजदीकियां बढ़ गई। बताया जाता है कि 2009 में अमर सिंह के कहने पर मुलायम सिंह ने जया प्रदा को रामपुर से दौबारा से लोकसभा का टिकट दिया। 2009 में भी जया प्रदा चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंची थी।