दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राम जन्मभूमि राम मंदिर पर दिया बहुत घटिया बयान, जरूर पढ़े.



नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं श्री राम जन्मभूमि अयोध्या राम मंदिर के बारे में जिस पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक बहुत ही घटिया बयान दिया है और आज हम उसी पर चर्चा करेंगे.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राम जन्मभूमि राम मंदिर पर दिया बहुत घटिया बयान, जरूर पढ़े.

क्या है मामला:
जी हां दोस्तों आपने सही सुना है राम मंदिर पर आम आदमी पार्टी के स्टैंड के सवाल पर सिसोदिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश अयोध्या में यूनिवर्सिटी बनानी चाहिए जहां हिंदू ,मुस्लिम, सिख, इसाई और फॉरेन स्टूडेंट्स शिक्षा ग्रहण कर सकें और इसी तरीके से हम रामराज्य ला सकते हैं.दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने राम मंदिर पर चल रहे विवाद के बीच कहा है कि उस स्थान पर एक यूनिवर्सिटी बना देनी चाहिए.सिसोदिया ने अपनी घटिया राजनीति करते हुए कहा कि सही मायनों में रामराज्य का मतलब है यूनिवर्सिटी खोल लोगों को शिक्षा देना ना कि वहां भव्य मंदिर बनाना.एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में सिसोदिया ने कहा कि दोनों पक्ष अगर राजी हो जाए तो वहां एक विश्वविद्यालय बनाना चाहिए.




सिसोदिया ने दिया घटिया बयान :
उत्तर प्रदेश अयोध्या श्री राम जन्मभूमि राम मंदिर पर आम आदमी पार्टी के स्टैंड के सवाल पर सिसोदिया ने कहा कि हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई और फॉरेन स्टूडेंट्स भी यहां शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं .अपने बच्चों को पढ़ा कर हम रामराज्य ला सकते हैं. इस समय जाती पर हो रही राजनीति के सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसी राजनीति को सिर्फ शिक्षा से ही रोका जा सकता है. सिसोदिया ने कहा कि अभी हाल में ही  में में जापान गया था,वहां  जिस दिन हाइड्रोजन से कार चलने के नए सिस्टम पर चर्चा की जा रही थी उस दिन हमारे देश में ट्विटर पर हनुमान की जाति पर बहस हो रही थी. यह बेहद निराश करने वाला है, इसे सिर्फ शिक्षा से ही बदला जा सकता है.




ये सिर्फ हिंदुवो पर राजनीति करते है :
लोकसभा चुनाव के सवाल पर सिसोदिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी दिल्ली की सभी 7 लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ेगी सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के अलावा उनकी पार्टी पंजाब और हरियाणा में भी पूरा ध्यान दे रही है. बहरहाल जो भी हो मनीष सिसोदिया के इस घटिया बयान से उनकी पार्टी को बहुत बड़ा नुकसान होने वाला है. वैसे भी मुस्लिमों के धार्मिक कार्यक्रम तथा उनके धार्मिक स्थलों पर इन को बोलने में डर लगता है या फिर यह सोचते हैं कि मुस्लिम समुदाय हमारा वोट बैंक है इसलिए हम उसकी भावनाओं को आहत नहीं करेंगे और हिंदुत्व मे लोग टूटे हुए हैं इसलिए इनको और आहत करो.

हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करे :


Reactions