पढ़े इस बरे संत ने अयोध्या श्री राम मंदिर निर्माण तक अन्न त्यागा .




नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका भारत आइडिया में तो दोस्तो आज हम बात करने वाले है श्री राम जन्म भूमि अयोध्या के बारे में जिसके निर्माण के लिए एक योगी जिनका नाम योगीनाथ है ने प्रन लिया है कि जब तक राममंदिर का निर्माण नहीं होगा तब तक वो अन्न ग्रहण नहीं करेंगे.

क्या है मामला :
जीहां दोस्तो आपने सही सुना, दरअसल राम मंदिर में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए अयोध्या के खाक चौक परिसर में तीन दिवशीय अश्वमेघ यज्ञ का आयोजन 11 सौ ब्राह्मणों के वैदिक मंत्रोच्चारण द्वारा किया गया.इस महायज्ञ समापन के दौरान अयोध्या के जानकी महल में विशाल संत सभा का आयोजन किया गया . जिसमे राम जन्मभूमि आन्दोलन से जुड़े संत भी शामिल हुए. इस सम्मलेन के दौरान जहाँ महंत नृत्य गोपाल दास ने पीएम मोदी से जल्द राम मंदिर निर्माण की बात कहीं तो वहीँ इसके साथ अन्य संतो ने जहाँ भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित करने की बात कहीं वहीँ गुजरात से आये संत योगी नाथ ने इस मंच से मंदिर निर्माण होने तक अनाज को त्याग की भी घोषणा कर दिया.इस संत सभा में राम जन्मभूमि न्यास महंत नृत्य गोपाल दास ने पीएम मोदी से अयोध्या में राम मंदिर बनाने की बात कहीं तो वहीँ राम जन्मभूमि आंदोलन से जुड़े रहे. वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती ने संत सम्मेलन के दौरान राम मंदिर निर्माण को लेकर नया खुलासा कर दिया डॉ वेदांती ने बताया कि कि राम मंदिर को लेकर अंतरराष्ट्रीय समझौते का हस्ताक्षर हो चुका है किन्तु देश के हिंदू मुसलमान मिलकर अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण कराएंगे और जल्द ही इस फार्मूले को सामने लाएंगे . लेकिन इतना जरूर बताया है कि इस फार्मूले से देश में अमन चैन शांति के तहत मंदिर का निर्माण होगा .




भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की भी हुई मांग :
अयोध्या में राम मंदिर को लेकर संत सम्मलेन के दौरान सुमेरु पीठाधीश्वर नरेंद्रानंद सरस्वती ने राम मंदिर निर्माण में आ रही बाधाओं को दूर करने के साथ ही कांग्रेस द्वारा अधिग्रहित जमीन को न्यास को देने की मांग किया  तथा  भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित करने की भी मांग उठाया गया. इसके साथ ही कश्मीर की समस्या को लेकर संतों ने चिंता जताई और कश्मीर में सैनिको को सक्षम कार्यवाही करने का अधिकार देने की बात कही.




एक संत ने मंदिर निर्माण होने तक अन्न त्याग :
वहीँ इस सम्मलेन में राम जन्म भूमि आन्दोलन को लेकर सीबीआई के अदालत में आरोपी रहे धर्मेन्द्र महाराज ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए हिन्दुओं का मजबूत संगठन होना जरुरी हैं, इसके अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं हैं. देश के प्रधानमंत्री ने कभी भी नहीं कहा कि भारत हिन्दू राष्ट्र हैं, जब एक छोटा सा राज्य नेपाल अपने देश को हिन्दू राष्ट्र घोषित कर सकता हैं तो भारत को भी हिन्दू राष्ट्र घोषित करना चाहिए. वहीँ इस दौरान गुजरात से अयोध्या पहुंचे योगी नाथ ने राम मंदिर के साथ आज हिन्दू समाज अपने संस्कृति की भी रक्षा के लड़ने को लेकर कहा और राम मंदिर निर्माण होने तक अन्न त्याग ने की भी घोषणा कर दिया .


Post a Comment

0 Comments