डूबते पाकिस्तान को अब सिर्फ IMF का सहारा, बेलआउट पैकेज के लिए फैलाएंगा हाथ


 पाकिस्तान के खस्ताहाल किसी से छुपे नही है।

पाकिस्तानी वित्त मंत्री असद उमर ने बताया कि कर्ज लेने के लिए सरकार ने पिछले ५ सालों में दूसरी बार अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष(IMF) जाने का निर्णय लिया है।

स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के अनुसार, पाकिस्तान का व्यापार घाटा करीब ₹१, ३४० अरब पहुंच गया है, जबकि देश के पास विदेशी मुद्रा भंडार सिर्फ डेढ़ महीनों के लिए बचा है।
     


प्रधानमंत्री बनने के बाद पैसे जुटाने के लिए भैंसे तक बेच चुके  इमरान खान अब बड़ी संस्थाओं के सामने अपने हाथ फैलाने जा रहे हैं। 

संपादक :आशुतोष उपाध्याय
Reactions