क्या कांग्रेस की ये रणनीति महागठबंधन को जित दिला पायेगी ?

साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए महागठबंधन ने अपनी कमर कस ली है। आपको हम बता दे की महागठबंधन बिना प्रधानमंत्री के चेहरे के चुनाव में उतरेगा। कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए दो रणनीति बनाई है जिसके तहत पहिली रणनीति में कांग्रेस सभी गठबंधन को खुद के साथ जोड़ेगी जिसमे प्रधानमंत्री के उम्मीदवार के बारे में जनता को कुछ नहीं बताया जाएगा। दूसरे चरण में कांग्रेस चुनाव नतीजों के बाद ये बताएगी की महागठबंधन का प्रधानमंत्री उम्मीदवार कौन होगा। राहुल गाँधी ने ये भी कहा की अगर बीजेपी 230 शीट तक जीतती है तभी नरेंद्र मोदी अगली बार प्रधानमंत्री बन सकते है जो की नामुमकिन है। राहुल गाँधी ने कहा की हमें सबसे ज्यादा शीटों की उम्मीद महाराष्ट्र, बिहार और उत्तरप्रदेश से है।



बहरहाल जो भी हो कांग्रेस की ये चाल कितनी सफल होती है ये देखने वाली बात होगी लेकिन आने वाले लोकसभा चुनाव में जनता को अपना मत सोच-समझ कर देना होगा क्युकी कोई भी व्यक्ति बिना प्रधानमंत्री उम्मीदवार के किसी पार्टी को वोट नहीं देना चाहेगा और वैसे भी बीजेपी ने बीते 4 वर्षो में जन्ता का दिल जमीनी स्तर पर जीता है तो उम्मीद की जा रही है की महागठबंधन की सारी पार्टिया मिल के भी बीजेपी को नहीं रोक पायेगी और अगले वर्ष भी नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे।

सम्पादक : विशाल कुमार सिंह 


Reactions