महबूबा मुफ़्ती का आरोप बीजेपी के साथ गठबंधन जहर पिने जैसा था


जैसा की आप सब की पता होगा की पिछले महीने जून में बीजेपी और पीडीपी का गठबंधन टूट चूका है लेकिन 1 महीने बाद जम्मू कश्मीर की पहिली महिला मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती को इस गठबंधन पर टिपण्णी करने की याद आयी है। हम आपको बता दे की महबूबा मुफ़्ती ने कहा की वो कभी भी इस गठबंधन के पक्छ में नहीं थी। महबूबा मुफ़्ती ने कहा की जब मेरे पिता बीजेपी से गठबंधन करने जा रहे थे तभी से मेरे मन में ये सवाल था की क्या बीजेपी के साथ गठबंधन करना सही होगा। मैंने अपने पिता से भी इस बारे में बात की थी लेकिन उन्होंने मेरी बात को नकार दिया और कहा की मै सिर्फ जम्मू-कश्मीर की भलाई  चाहता हूँ इसीलिए ये गठबंधन करने जा रहा हूँ। लेकिन सरकार बनाए महज 1 महीने बाद महबूबा मुफ़्ती के पिता का देहांत हो गया और महबूबा मुफ़्ती जम्मू-कश्मीर-की पहली महिला मुख्यमंत्री बनी।


शनिवार को महबूबा मुफ़्ती ने कहा की, ये गठबंधन उनके लिए आशान नहीं था। ये गठबंधन एक जहर के प्याले को पिने के समान था। महबूबा मुफ़्ती ने कहा की हमारे प्रयासों से घाटी में रमजान के दौरान सीजफायर हुआ और हमारी बस एक ही कोशिश थी की बीजेपी 370 धारा को नुक्सान नहीं पहुंचाए।महबूबा मुफ़्ती ने आगे कहा की मई बतौर मुख्यमंत्री कई बार प्रधानम्नत्री नरेंद्र मोदी जी को पाकिस्तान से अच्छे रिश्ते करने की पहल की और अब मई उनसे अपील करती हु की पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान की और कोई सकारात्मक सन्देश भेजे, जिससे दोनों देशो के बिच रिश्ते बेहतर हो सके।

सम्पादक : विशाल कुमार सिंह
भारत आईडिया से जुड़े :
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 .
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।






Reactions