भाजपा को रोकने के लिए किसी से भी समझौता/Any agreement with any party to stop BJP

आज हम बात करने जा रहे हैं कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सीताराम येचुरी ने आखिर क्या कह डाला और वह भाजपा को रोकने के लिए किस-किस से समझौता करेंगे आइए देखते हैं।





आज हम बात करने जा रहे हैं कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सीताराम येचुरी ने आखिर क्या कह डाला और वह भाजपा को रोकने के लिए किस-किस से समझौता करेंगे आइए देखते हैं।
मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि देश अभी खतरनाक मोड़ पर है।भाजपा को सत्ता से हटाना है।भाजपा विरोधी वोटों में बटवारा रोकने के सभी प्रयास होंगे। इसके लिए लोकसभा चुनाव में वामदलों के साथ ही किसी भी दल से समझौता किया जा सकता है।लोकसभा चुनाव के सभी सेकुलर वोटों को हर हाल में गोलबंद किया जाएगा। वैसे उपचुनाव के बाद भाजपा की उल्टी गिनती शुरु हो गई है।

सनातन धर्म को जाने मात्र 10 बिन्दुओ में जरूर पढ़े / Know Sanatan Dharma in just 10 points


जनता भाजपा की नीतियों से त्रस्त ऐसा कहना है मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सीताराम येचुरी का।
शुक्रवार को आई एम ए हॉल में आयोजित पत्रकार वार्ता मिस्त्री यू जेरी ने अफसोस जताया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा के साथ चले गए एक सवाल के जवाब में कहा कि यदि वे भाजपा के साथ नहीं जाते तो वर्ष 2019 में संयुक्त विपक्ष के प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार होते कहा कि अब गंगा में काफी पानी बह गया है नीतीश कुमार ने मौका गवा दिया

वेद, उपनिषद और संगदर्शन क्या है / What is the Vedas, Upanishads and Sagdarshan


उस धार में पूरा विपक्ष उन्हें नेता के रूप में देख रहा था माकपा नेता ने कहा कि पूरे देश में जनता भाजपा की नीतियों और कार्यों से त्रस्त है नई परिस्थितियों में सभी वहां एवं लोकतांत्रिक शक्तियों की एकजुटता जरूरी है

जगन्नाथ पुरी मंदिर में माहौल स्वच्छ नहीं: सुप्रीम कोर्ट/Jagannath Puri temple is not clean: Supreme Court


वैकल्पिक राजनीति देश की मांग है।
 सीताराम येचुरी ने दावा किया कि भाजपा के शासन में बड़े व्यापारियों ने एक ११लाख करोड रुपए का लोन लेकर, उसे नहीं लौटाया है। दलित मुसलमान पर हमले बढ़ गए तो वह करोड़ों लोगों को रोजगार का वादा हवा में गया, एक सवाल पर कहा कि प्रणव मुखर्जी को आरएसएस की सभा में नहीं जाना चाहिए था।
 प्रणव दा ने अपने संबोधन में गांधी की शहादत की चर्चा नहीं की संघ पर लगे तीन बार के प्रतिबंध की चर्चा नहीं की उन्होंने कई मुद्दे नहीं उठाये।संघ की स्वतंत्रता आंदोलन की कोई भूमिका नही थी।

ऐसा कहना है मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सीताराम येचुरी का।

लगता है कि वक्त आने पर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सीताराम येचुरी जी आतंकवादी से भी हाथ मिला लेंगे भाजपा को हराने के लिए और तब भी ये देशभक्ति सिखाएंगे और आज का तो कहना ही नहीं।

संपादक: आशुतोष उपाध्याय
Reactions