कांग्रेस शाषित राज्य में परीक्षा के दौरान छात्र से जबरन उतरवाई पगड़ी

समाचार के मुख्य बिंदु :- मध्य प्रदेश: 12 वीं कक्षा के सिख छात्र, को धार में बोर्ड परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने से पहले कथित तौर पर ...

समाचार के मुख्य बिंदु :-
मध्य प्रदेश: 12 वीं कक्षा के सिख छात्र, को धार में बोर्ड परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने से पहले कथित तौर पर अपनी पगड़ी उतारने को कहा गया था। शिक्षा विभाग के अधिकारी का कहना है, "कड़ी जाँच के निर्देश हैं। अगर इरादा भावना को आहत करने का था, तो उचित कार्रवाई की जाएगी ”।


मध्यप्रदेश में परीक्षा के दौरान पगड़ी उतरवाने का मामला सामने आया है :-
धामनाद (Dhamnad) में कक्षा 12 वीं के पेपर देने गए छात्र को पगड़ी(turban) उतरवाए जाने का मामला सामने आया है। मामला बीईओ(BEO) के संज्ञान में आने के बाद केंद्राध्यक्ष(Kendra President ) सहित 3 शिक्षकों को हटा दिया गया है। छात्र का कहना है कि एग्जाम देने गया तो अचानक टीचर बोले- पगड़ी उतारना पड़ेगी। पगड़ी उतरवाकर चेकिंग की गई। मैं अच्छा नहीं लगा। मामले में सिख समाज ने आपत्ति दर्ज करवाते हुए दोषियों पर कार्रवाई की मांग की।


जानकारी के मुताबित मामला बोर्ड परीक्षा के दौरान का है:-
जानकारी के मुताबिक हरपल पिता करतार सिंह(Harpal's father Kartar Singh) निवासी दूधी सरस्वती स्कूल(Dudhi Saraswati School) में कक्षा 12 वीं का छात्र है। सोमवार को कन्या हायर सेकंडरी स्कूल(Kanya Higher Secondary School ) में हिंदी का पेपर(Hindi paper) था। सुबह 8.45 बजे परीक्षा देने पहुंचे। वहाँ मौजूद केंद्राध्यक्ष सुधा जैन, सहायक केंद्राध्यक्ष एमडी वर्मा, शिक्षक ममता चौरसिया ने हरपल को गेट पर ही रोक लिया और चेकिंग के नाम पर पगड़ी( turban) खुलवाई। छात्र ने कहा- यह गलत है। इस पर टीचर बोले- यह शासन के नियम हैं। पगड़ी( turban) खुलकर ही जांच की जाएगी। इसके बाद छात्र ने पगड़ी( turban) खोलकर दे दी। टीचर ने पगड़ी( turban) की जांच की और फिर छात्र को परीक्षा हॉल में जाने दिया।


शिक्षकों काे हटाने के आदेश दिए गए :-
बीआईओ नीता श्रीवास्तव(BIO Nita Srivastava) ने बताया कि धामनोद केंद्र(Dhamnod center) पर ऐसी शिकायत मिली थी। मैंने तीनों शिक्षकों से व्यक्तिगत बात की और अधिकारियों को भी इस संबंध में अवगत कराया। प्रारंभिक रूप से शिक्षकों की गड़बड़ी सामने आई। इस पर तीनों शिक्षकों काे हटाने के आदेश दिए हैं। कल मैं खुद केंद्र पर जाऊंगी, अन्य स्टाफ से भी बात करूंगी। दोषी शिक्षकों से माफीनामा(apology letter) लिखवाया जाएगा और जांच में जो भी दोषी होगा, उस पर सख्त कार्रवाई होगी। इधर, डीआईओ मंगलेश व्यास( DIO Manglesh Vyas) बोले- ऐसा कुछ हुआ है। मेरी जानकारी में नहीं है। आपने मामला संज्ञान में लाया है, इसकी जांच करवाता हूं।


ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
  





आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे।